Click here for Myspace Layouts

गुरुवार, 9 सितंबर 2010

मेरे अगनें में.........

'तीन ने से एक भारतीय भ्रष्ट,केवल २०% फीसदी ईमानदार,५०% भ्रष्ट होने के कगार में,३०% पूर्णत: भ्रष्ट' "केन्द्रीय सतर्कता आयुक्त रहे प्रत्यूष सिन्हा ने बुधवार कों चिंता जताते हुए यह बात कही"। [दैनिक भास्कर]

अब देश के बचे इन ईमानदारों कों कही यह न सुनना पड़े,कि.....'मेरे अगनें में तुम्हारा क्या काम है'...

सिन्हा जी जाते जाते इन २०% ईमानदारों की लिस्ट भी जारी कर जाते तो कितना अच्छा होता,अब कही देश में इन २०% लोगो में खुद कों शामिल करने की होड़ न लग जाये।

सिन्हा जी ने यह भी कहा कि मात्र ४% भ्रष्टो कों सजा मिल पाती है। सवाल यह उठता है कि सब भ्रष्टो कों अगर सजा हो गयी,तो उन्हें रखेगें कहां,और सरकार कौन चलाएगा,सरकार कौन चुनेगा?
मात्र २०% लोगों की बदौलत देश चलने से रहा।
सिन्हा जी पद में रहते हुए यह बात कहते तो आप के इस ईमानदार बयान में चार चाँद लग जाते ?
vikram

3 टिप्‍पणियां:

  1. भारत देश का नाम बदलकर
    'भ्रष्ट देश' रखना पडेगा क्या ?
    विक्रम जी अच्छी जानकारी वाला
    लेख है .

    उत्तर देंहटाएं
  2. थोडा बहुत आयडिया तो था पर इतने कम ईमानदार !!!!!

    उत्तर देंहटाएं