Click here for Myspace Layouts

सोमवार, 2 अप्रैल 2012

है कौन कर रहा प्रलय गान....


है कौन कर रहा प्रलय गान

भय-ग्रसित हो गए तरु के गात
हो शिथिल झर रहे उसके पात

सकुचे सहमें तरु के पंछी,गिर गिर कर तजनें लगे प्राण

है कौन कर रहा प्रलय गान

अविचल सुमेरु भी विकल हुये
झरनों के स्वर भी मंद हुये

स्तब्ध हुआ चंचल समीर,खो बैठा अपना दिशा ज्ञान

है कौन कर रहा प्रलय गान

यह काल-प्रबल का अमिट लेख
जीवन ललाट पर लिखा देख

रोकेगा इसको कौन यहाँ,हर क्षय में यह अस्तित्ववान

है कौन कर रहा प्रलय गान
विक्रम
पुन:प्रकाशित

12 टिप्‍पणियां:

  1. यह काल-प्रबल का अमिट लेख
    जीवन ललाट पर लिखा देख
    रोकेगा इसको कौन यहाँ,
    हर क्षय में यह अस्तित्ववान
    है कौन कर रहा प्रलय गान....

    बहुत बढ़िया रचना,सुंदर अभिव्यक्ति,

    MY RECENT POST...काव्यान्जलि ...: मै तेरा घर बसाने आई हूँ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बढिया रचना है। सुन्दर शब्द चित्र खींचा है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज के चर्चा मंच पर की गई है।
    चर्चा में शामिल होकर इसमें शामिल पोस्टस पर नजर डालें और इस मंच को समृद्ध बनाएं....
    आपकी एक टिप्‍पणी मंच में शामिल पोस्ट्स को आकर्षण प्रदान करेगी......

    उत्तर देंहटाएं
  4. मिश्रित स्वरों में किन्चित स्वर ही प्रतिमान बनते हैं ,वह स्वर मुझे सुनाई दे रहा है ,भाषा शब्द ,व अभिव्यक्ति की सुफल यात्रा का भाव मंचित हो रहा है .शुभकामनाएं जी /

    उत्तर देंहटाएं
  5. गहन भावों को समेटे हुये अच्छी रचना

    उत्तर देंहटाएं
  6. रोकेगा इसको कौन यहाँ,हर क्षय में यह अस्तित्ववान...bahut hi badhiyaa

    उत्तर देंहटाएं
  7. यह काल-प्रबल का अमिट लेख
    जीवन ललाट पर लिखा देख
    रोकेगा इसको कौन यहाँ,हर क्षय में यह अस्तित्ववान
    है कौन कर रहा प्रलय गान....

    लगा ज्यों प्रसाद को पढ़ रहा...
    सुन्दर गीत.
    सादर.

    उत्तर देंहटाएं
  8. pahli baar apke blog par aai hu.kafi dino baad is dhang ki lalkaar deti hui rachna padhi...accha laga

    उत्तर देंहटाएं
  9. यह काल-प्रबल का अमिट लेख
    जीवन ललाट पर लिखा देख

    रोकेगा इसको कौन यहाँ,हर क्षय में यह अस्तित्ववान

    है कौन कर रहा प्रलय गान

    उम्दा प्रस्तुति ... !!

    उत्तर देंहटाएं
  10. Vaah ... Kash ye pralay haan vo Bhi sun saken Jo dvesh failaate hain ... Ozaswi rachna ...

    उत्तर देंहटाएं
  11. आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद ,स्वाथ ठीक न होने की वजह से ब्लॉग लेखन से दूर हूँ ,व ब्लॉग जगत की नई रचनाओं के पठन से भी,

    उत्तर देंहटाएं
  12. गहन भाव लिए ,बहुत ही प्रभाव शाली रचना ...
    शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए शुभकामनायें ...!!

    उत्तर देंहटाएं